ज्यादा मात्रा में मछली खाने से बढ़ता है कैंसर का खतरा, जाने कितनी मात्रा में मछली का सेवन करना है सही…

0
Spread the love

Desk: हमें अपने शरीर को हेल्दी और एक्टिव रखने के लिए अच्छे डाइट की जरूरत होती है.  इसको लेकर एक्सपर्ट कहते हैं कि हर प्रकार के खाने में अपनी अलग-अलग विशेषताएं होती हैं इसलिए सभी चीजों का सेवन उपयुक्त मात्रा में करना जरूरी होता है. कुछ लोगों को नोन-वेज फूड बेहद पसंद होता है, भारत में आमतौर पर पाए जाने वाले नोन-वेज फूड्स में अंडे, चिकन व मछली आदि शामिल हैं.  जिनका उचित मात्रा में सेवन करना स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा रहता है. लेकिन हाल ही में हुई एक स्टडी मे पाया गया कि अधिक मात्रा में मछली खाने से कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों का खतरा भी बढ़ सकता है. इसलिए अगर आप भी अपनी डाइट में फिश को शामिल करना पसंद करते हैं, तो यह पोस्ट आपके लिए है तो आइए जानते हैं ज्यादा फिर से कौन से कैंसर का खतरा बढ़ जाता है और कितनी मात्रा में मछली का सेवन करना आपकी सेहत के लिए फायदेमंद है

4 लाख से भी अधिक लोगों पर की गई स्टडी
मिली जानकारी के अनुसार ब्राउन यूनिवर्सिटी में यह अध्ययन किया गया है.  इस अध्ययन में 4 लाख 91 हजार 367 लोगों ने हिस्सा लिया, जिनकी सभी की उम्र 62 साल से अधिक थी. इन लोगों ने पिछले साल तली हुई मछली, बिना तली हुई मछली और टूना फिश खाई थी. जिसके बाद रिसर्च में पाया गया कि इन लोगों में से 1 फीसद व्यक्तियों को मेलानोमा कैंसर होने का खतरा अधिक पाया गया. वहीं 0.7 फीसद लोगों को मेलानोमा होने के काफी अधिक खतरा था.

यह भी पढ़े: सुन्दर, स्वस्थ स्कीन के लिए एलोवेरा है काफी फायदेमंद, जानें इसके महत्वपूर्ण फायदे…

गहरी त्वचा वाले लोगों में है कम खतरा
साथ ही अमेरिका में की गई इस रिसर्च में यह भी पाया गया कि मछली खाने से श्वेत लोगों में मेलानोमा का खतरा अश्वेत लोगों की तुलना में अधिक देखा गया है. यानी जो गहरी त्वचा वाले लोग थे उनमें मेलानोमा के मामले कम पाए गए. हालांकि, शोधकर्ताओं ने यह भी बताया कि इस शोध को पूरी तरह से मान लेना भी सही नहीं है, क्योंकि इसमें खाई गई मछलियों के अंदर दूषित पदार्थों की मात्रा को नहीं आंका गया था.

कितनी मछली खाना है उचित
बता दे हर व्यक्ति के शरीर, स्वास्थ्य समस्याओं, उम्र और अन्य कारकों के आधार पर ही पूरी तरह से यह निर्धारित किया जा सकता है, कि उसे रोजाना कितनी मात्रा में मछली का सेवन करना चाहिए. एफडीए की वेबसाइट से मिली जानकारी के अनुसार एक स्वस्थ वयस्क व्यक्ति को एक दिन में 150 से 200 ग्राम मछली का सेवन करना चाहिए.

क्या रोज मछली खाना है सही
वह लोग जो पूरी तरह से स्वस्थ हैं और वयस्क हैं, वह रोजाना उचित मात्रा में मछली खा सकते हैं. लेकिन अगर आप एक गतिहीन जीवन जी रहे हैं या फिर आपको हृदय, लिवर से संबंधित समस्या या अन्य कोई बीमारी है, तो मछली का अधिक सेवन आपके लिए नुकसानदायक भी हो सकता है.

डॉक्टर से सलाह लेना सबसे अच्छा विकल्प
अगर आप रोजाना मछली का सेवन कर रहे हैं या फिर अपनी डाइट में ज्यादा से ज्यादा फिश शामिल करना चाहते हैं, तो ऐसे में डॉक्टर से बात कर लेनी चाहिए. डॉक्टर आपकी उम्र, शारीरिक वजन, जीवनशैली और अंदरूनी समस्याओं का ध्यान देते हुए आपके लिए मछली की उचित मात्रा का निर्धारण कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *